गोंड राज्य

15 वीं शताब्दी में मध्य प्रदेश के दक्षिण पूर्व क्षेत्र में विंध्याचल एवं सतपुड़ा की पहाड़ियों के मध्य स्थित क्षेत्र गोंड राज्य कहलाया।

यह मुख्यतः तीन भागों में विभाजित था –

  • संस्थापक- यादव राय
  • वास्तविक संस्थापक- संग्राम शाह

गढ़ा मंडला का गोंडराज

  • इसका महानतम शासक संग्राम शाह को माना जाता है ।
  • इसके समय गढ़ा मंडला में 52 राज्य संग्रहित थे । इनमें जबलपुर, मंडला ,दमोह ,बालाघाट, छिंदवाड़ा के क्षेत्र में शामिल थे।
  • इसकी मृत्यु के पश्चात इसका पुत्र दलपत शाह शासक बनता है ।
  • दलपत शाह की असमय मृत्यु के पश्चात उनकी पत्नी दुर्गावती शासक बनती हैं।

रानी दुर्गावती

  • चंदेल वंश की राजकुमारी , दलपत शाह की पत्नी।
  • गोंडवाना क्षेत्र के शासन की बागडोर बड़ी कुशलता से संभाली।
  • रानी दुर्गावती के युद्ध कौशल और वीरता, राज्य कौशल की चर्चा चारों ओर विस्तृत हुई।
  • संग्रामपुर के किले पर विजय प्राप्त की ।
  • अकबर के दक्षिण विजय की क्रम गढा मंडला गोंड राज्य एक महत्वपूर्ण केंद्र था।
  • 1564 अकबर का सेनापति आसफ खां को गोंड राज्य पर आक्रमण का आदेश प्राप्त होता है।
  • अकबर के सेनापति आसफ खां का 1564 ई में रानी दुर्गावती के साथ युद्ध हुआ, जिसमें रानी दुर्गावती पराजित हुई एवं अपनी पराजय का आभास होते ही रानी दुर्गावती के द्वारा स्वयं अपनी कटार से प्राण त्याग दिए जाते है।
  • इसके पश्चात मुगल प्रशासन के अधीन ही गोंड राजा शासन करते हैं
  • प्रमुख गोंड शासक मधुकरशाह, हृदयनाथ शाह ,नरेंद्र शाह निजाम शाह आदि

देवगढ़ का गोंड़राज (छिंदवाड़ा)

  • गढ़ा मंडला राज्य कमजोर होने के पश्चात देवगढ़ राज्य का उदय होता है।
  • इसकी स्थापना का श्रेय धंसुर और रंसुर राजाओं को जाता है

राजा जटावा 

  • देवगढ़ के किले का निर्माण किया

कोक शाह द्वितीय

  • इन्होंने अपना धर्म छोड़कर इस्लाम धर्म को अपनाया एवं अपना नाम इस्लामयार खान रख लिया 

महीपत शाह 

  • इसने औरंगजेब से संधि की एवं देवगढ़ का नाम इस्लामनगर किया 

चांद सुल्तान

  • इसने गोंड राज्य की राजधानी देवगढ़ से नागपुर स्थानांतरित की 
  • इसके समय पर देवगढ़ पर अधिकार मराठा सरदार रघुजी भौसले ने किया।

खेड़ला के गोंड़राज (बैतूल)

  • प्रमुख शासक– राजा इल, नरसिंह राय एवं जैतपाल थे। 

इन्होंने मुगलों के आक्रमण से बचने के लिए मुगलों से समझौता किया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!